Wednesday, 17 May, 2023

SILWANI MP KHULASA//तहसीलदार से की युवक ने मारपीट, दी जान से मारने की धमकी,

//सिलवानी खुलासा उवेश खान//

तहसीलदार से की युवक ने मारपीट, दी जान से मारने की धमकी, पुलिस ने भेजा जेल
तहसील परिसर में रखी गुमठी हटाने को लेकर नाराज था युवक दो दिन पहले तहसीलदार ने हटाई थी युवक की गुमठी

सिलवानी। बुधवार को नगर के एक युवक ने अपनी गुमठी तहसील परिसर से हटाने से नाराज होकर तहसील कार्यालय पहुंचकर कार्यालय में बैठे तहसीलदार सीजी गोस्वामी से अभद्रता कर गाली गलौच करने लगा और देखते ही देखते तहसीलदार की डेस्क पर सरकारी कागजात को फाड़ दिया और गुस्साए युवक और तहसीलदार की झूमा झटकी मारपीट में बदल गई। घटना को देख तहसील कार्यालय के अन्य कर्मचारियों ने बीच बचाव किया। युवक ने तहसीलदार के साथ गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी दी है। तहसीलदार सीजी गोस्वामी थाने फोन कर पुलिस को बुलाया और युवक को पुलिस के हवाले कर दिया।

जानकारी के अनुसार

तहसीलदार सीजी गोस्वामी ने पुलिस थाने में रिपोर्ट की है कि मैं तहसील सिलवानी में तहसीलदार के पदस्थ हूं। आज दिनांक 17 मई 2023 के करीब 2.30 बजे मैं अपने आफिस में बैठकर शासकीय कार्य कर रहा था तो तहसील कार्यालय के बाहर से जितेन्द्र सोनी दौड़कर आया और मुझे मां बहन की गंदी गंदी गालियां ने लगा और बोलने लगा कि तहसीलदार कौन है मेरी गुमठी क्यों हटाई तो मैंने कहा मुझसे शांति से बात करो। तो इस बात पर से जितेन्द्र सोनी मुझसे झूम गया और मुझे एक थप्पड़ मार दिया, जिससे मुझे गाल पर चोट आई है और मेरी टेबिल पर रखे दस्तावेज फाड़ दिये उतने में मेरे कार्यालय में भृत्य के पद पर पदस्थ बलदेवसिंह, रतनसिंह आ गये जिन्होने मेरा बीच बचाव किया। जितेन्द्र सोनी मेरा नाम लेकर बोल रहा था कि तू तहसीलदार मुझे तहसील के बाहर दिखा तो जान से खत्म कर दूंगा । जितेन्द्र सोनी द्वारा मेरे साथ अभद्रता एवं शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाई गई।

इस संबंध में थाना प्रभारी भारतसिंह ने बताया कि

तहसीलदार सीजी गोस्वामी की रिपोर्ट पर आरोपी जितेन्द्र सोनी पिता सुखनंदन सोनी उम्र लगभग 35 साल निवासी वार्ड 13, सिलवानी के विरूद्ध भादवि की धारा 186, 294, 332, 506 का प्रकरण कायम किया गया और आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।
वही आरोपी जितेन्द्र सोनी ने बताया कि वह उसके पिता सुखनंदन सोनी की बर्षो से दस्तावेज लेखक है और तहसील परिसर में उनकी की मी थी। सड़क चौड़ीकरण के दौरान सभी दुकानें तहसील परिसर से हटा दी गई थी तब मैने भी अपनी गुमठी हटा ली थी। सड़क बनने के बाद अन्य सभी लोगों ने पुनः तहसील परिसर में अपनी दुकाने गुमठी लगा ली थी। इसी के चलते मैंने भी अपनी गुमठी तहसील परिसर में लगा ली थी जिस पर तहसीलदार सीजी गोस्वामी ने दो दिन पूर्व सिर्फ मेरी गुमठी को हटा दी गई। इसी बात को लेकर में को तहसील कार्यालय गया और मैंने तहसीलदार साहब से बोला कि मेरी अकेली गुमठी क्यों हटाई गई अतिक्रमण हटाना है तो सभी लोगो की दुकान हटाइये, मुझसे क्या बुराई है, मेरा इसी गुमठी से परिवार का लालन पालन होता है। और इसी बात पर तहसीलदार साहब भड़क गये। बताया जाता है युवक मानसिक रूप से ग्रसित है।

 3,709 Total Views

WhatsApp
Facebook
Twitter
LinkedIn
Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search