Wednesday, 1 March, 2023

Khulasa Rajgarh M.P.- जिला नियंत्रण कक्ष में अपराध समीक्षा बैठक आयोजित त्योहारों पर विशेष सतर्कता रखने अपराधियों पर शिकंजा कसने विशेष कार्य योजना बनाई गई- DIG – SP

जिला नियंत्रण कक्ष में अपराध समीक्षा बैठक आयोजित
त्योहारों पर विशेष सतर्कता रखने अपराधियों पर शिकंजा कसने विशेष कार्य योजना बनाई गई

राजगढ़।। आगामी कार्ययोजना को लेकर बुधवार जिला मुख्यालय पर आयोजित अपराध समीक्षा बैठक के दौरान पुलिस उप महानिरीक्षक / पुलिस अधीक्षक द्वारा उपस्थित समस्त अनुविभागीय पुलिस अधिकारी एवं समस्त थाना प्रभारियों को दिशानिर्देश दिए गए। अपराधों को देखते हुए पुलिस मुख्यालय द्वारा समस्त जिला पुलिस अधीक्षकों को अपने अपने जिले में अपराध निकाल एवं आगामी होलिका, उर्स इंतजाम मे प्रभावी कानून व्य‍वस्था बनाये रखने हेतु कठोर निर्देश दिये गये हैं। जिसको लेकर जिले के पुलिस उप महानिरीक्षक / पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी द्वारा जिला नियंत्रण कक्ष राजगढ में समस्त थाना प्रभारियों द्वारा विगत समय में किये गये कार्यों की अपराध समीक्षा बैठक ली गई। यह क्राइम मीटिंग पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी प्रोन्नत होने बाद की इस जिले मे आने के बाद पहली क्राइम मीटिंग आयोजित की गई। समीक्षा बैठक में जिलाधीश हर्ष दीक्षित, एएसपी मनकामना प्रसाद सहित समस्त अनुविभागीय अधिकारी पुलिस एवं समस्त थाना प्रभारी उपस्थित रहे। जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा अपराध समीक्षा बैठक में उपस्थित अधिकारी कर्मचारियों को अपराध निकाल एवं आगामी त्यौहार पर कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये बिन्दुवार विस्तार से दिशानिर्देश दिये गये जिसके चलते सर्वप्रथम प्रत्येक थाना मे आने वाले फरियादियों को सुना जाकर निराकरण करते हुए पूर्णतः संतुष्ट किये जावे, उनके द्वारा विगत समय में अपने अपने थाना क्षेत्रांतर्गत अपराध निकाल, पेंडिंग चालान, पेंडिंग मर्ग एवं गुम एवं अपह्त बालक/बालिकाओं की दस्तयाबी हेतु किये गये सार्थक प्रयासों के बारे में पूछा गया, जिसमें थाना प्रभारियों द्वारा हर तरीके से जिला पुलिस अधीक्षक को अपने द्वारा किये गये प्रयासों के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी गई, जहां एक ओर पुलिस अधीक्षक, थाना प्रभारियों द्वारा दी गई सार्थक जानकारी पर उनकी पीठ थपथपाते नजर आए वहीं दूसरी ओर जानकारी भ्रामक प्रतीत होने पर उन्हें उनकी गलतियों पर समझाते एवं डांटते हुए भी दिखाई दिये। जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना प्रभारियों को चेतावनी भी दी गई कि यदि आपके द्वारा कानून व्यवस्‍था सुद्ढ रखने एवं अपराध निकाल में कोताही बरती गई तो उनकी ओर से त्वरित दण्डात्मक कार्यवाही की जावेगी। मीटिंग मे जिलाधीश ने बताया कि प्रशासन एवं पुलिस के साथ मिलकर पूर्व मे अभियान चलाकर भूमि संबंधी विवादों को त्वरित निराकरण किये गये आगामी समय मे भी निराकरण किये जाएंगे। जिले में चोरी की घटनाओं के होने से पुलिस अधीक्षक थाना प्रभारियों पर काफी नाराज़ हुए, उन्होने समस्त थाना प्रभारियों को चोरी की घटनाओं का जल्द से जल्द अच्छे से निराकरण करने के कडे निर्देश दिये। साथ ही गोवंश की तस्करी पर तत्काल लगाम लगाई जावे। बहुत वाहनों की पेंडेंसी का निराकरण किया आगामी समय मे भी किये जावे। कंडम वाहनों का निराकरण भी किये गये बाकी के कंडम वाहनों का भी किया जावे। घरेलू हिंसा के प्रकरण को त्वरित निराकरण किये जावे। विगत समय मे सभी प्रकार की कानून व्यवस्था को मुस्तेदी से निर्भीक होकर शांतिपूर्ण निर्वाह किये जाने के लिए अधिकारियों एवं कर्मचारियों का होंसला अफजाई के लिए प्रशंसा की गई। उक्त निर्देशों के साथ साथ पुलिस उप महानिरीक्षक / पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों से उनकी समस्याएं भी सुनीं एवं तत्काल उनका निराकरण भी किया साथ ही आगे कोई अन्य परेशानी आने पर उनका त्वरित निराकरण कराये जाने हेतु अपराध समीक्षा बैठक में मौजूद कार्यालयीन कर्मचारियों को भी निर्देशित किया। उन्हो्ने बताया कि पुलिसकर्मी काफी कठिन परिश्रम करते हैं एवं लगातार ड्यूटियों के चलते कभी कभी मानसिक रूप से तनाव में आ जाते हैं, सभी को अपने स्वास्थ्य का ध्यान भी रखना है। अधीनस्थ् कर्मचारियों को अवकाश लाभ देने एवं उनके चाहे अनुसार स्थानान्तरण अथवा वेतन विसंगति को लेकर समक्ष में पेश होने हेतु अनुमति दिये जाने के निर्देश भी थाना प्रभारियों को दिये गये। उन्होंने बताया कि आप सभी अपने अपने थानों का माहौल एक परिवार की तरह बनाये रखें तथा अधीनस्थ कर्मचारियों की हौसला अफजाई भी करते रहें ताकि थानों का महौल तनावपूर्ण न होकर खुशनुमा बना रहे एवं कर्मचारी भी जिम्मेदारी से अपनी डूयूटी कर सकें । कभी कभी अधिकारियों की डांट एवं नजरअंदाजी से कर्मचारियों में हीन भावना विकसित होने लगती है जिसका सीधा प्रभाव उनकी पारिवारिक परिस्थितियों पर तो पडता ही है साथ ही उनकी ड्यूटी करने की क्षमताओं में भी कमी आ जाती है। इस तरह का माहौल निर्मित न होने दें साथ ही कर्मचारियों से विनम्र व्यवहार करें। उन्होने समस्त थाना प्रभारियों को अपने अपने थाना क्षेत्र में निवासरत आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की सूची तैयार करने व उनपर निगाह रखने हेतु भी बताया ताकि कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित न हो। पुलिस उप महानिरीक्षक / पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी द्वारा समस्त थाना प्रभारियों से उनके कार्य की प्रगति के बारे में चर्चा की गई एवं अपराध निकाल हेतु हर संभव प्रयास करने बाबत निर्देश देते हुए समस्त थाना प्रभारियों को अपने-अपने थाना क्षेत्रों में लगातार आपराधिक प्रकरणों के निकाल, प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने, गुंडा बदमाशों पर नजर रखने सहित उनके जिला बदर प्रकरण तैयार करने, स्थाई वारण्टियों की धरपकड, जुआ, सटटा एवं अवैध शराब की बिक्री पर अंकुश लगाने के हर संभव प्रयास करने हेतु विशेष निर्देश दिये गये। उल्लेखनीय है कि जिला पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी द्वारा पुलिस बल के प्रोत्साहहन हेतु पुलिस मुख्यालय के निर्देशानुसार उल्लेखनीय कार्य करने वाले अधिकारी/कर्मचारियों को अधिक से अधिक पारितोषिक दिये जाने के निर्देश भी जारी किये गये हैं, जिसके फलस्वररूप पुलिस बल भी अपनी पूर्ण क्षमता एवं निष्ठा से अपराध निकाल में जुट गया है।

 1,537 Total Views

WhatsApp
Facebook
Twitter
LinkedIn
Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Rajgarh Khulasa M.P:- पानी के लिए दिल्ली जैसे हालात पैदा होने की बनी स्थिति, जिले में एक नही बल्कि दो राज्य मंत्री फिर भी ग्रामीण क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं 

ग्राम पंचायत सरेडी में पानी की किल्लत से ग्रामीण परेशान  दिल्ली जैसे

 14,734 Total Views

Search