Bhopal MP Khulasa//MP में अनलॉक संडे पर रिपोर्ट:ग्वालियर, इंदौर, भोपाल के बाजारों में रविवार को रौनक, खरीदारी करने उमड़े लोग; मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग नदारद

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
अनलॉक होने पर भोपाल के व्यस्त मार्केट का हाल।

भोपाल में 14 संडे लॉकडाउन की पाबंदी रही, अब सिर्फ रात की पाबंदी जारी रहेगी

मध्यप्रदेश में संडे अनलॉक की घोषणा के बाद इस बार रविवार को बाजारों में चहल-पहल दिखाई दी। सुबह से ही लोग अपनी-अपनी दुकानों को खोलने में व्यस्त रहे। कोरोनाकाल में लंबे समय से शनिवार-रविवार लॉकडाउन रहा है। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में में बाजारों में लोग इस दिन खरीदारी करने उमड़े। इस दौरान कुछ लोग गाइडलाइन का पालन करते दिखे, तो कहीं चेहरों से मास्क भी गायब थे। लोग पर्यटन स्थलों पर भी पहुंचे। खास है कि दूसरी लहर की शुरुआत होते ही मार्च महीने में नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। इसके बाद शनिवार-रविवार लॉकडाउन घोषित किया गया था।

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार रात संडे अनलॉक की घोषणा की थी। उनका कहना था कि प्रदेश में एक हजार से भी कम एक्टिव केस बचे हैं। 35 जिलों में कोई नया केस भी नहीं मिला है। साथ ही, संक्रमण दर घटकर 0.06% रह गई है। ऐसे में रविवार को लॉकडाउन का कोई मतलब नहीं है। इस दौरान लोगों को गाइडलाइन का पालन जरूरी है।

भोपाल में रविवार को बाजार में लोग खरीदारी करने उमड़ पड़े। सूनी सड़कों पर संडे को भी रौनक रही। पुराने भोपाल, न्यू मार्केट, विट्‌ठन मार्केट, 10 नंबर मार्केट समेत अन्य बाजारों में भी दुकानें खुली रहीं। भोपाल में संडे को अब लोग बिना रोक-टोक के घरों से बाहर निकले। राजधानी में रविवार को दोबारा पटरी पर लाने के लिए 103 दिन और 14 रविवार लग गए। ऐसे में एक बार फिर मार्केट खुलने से लोगों के साथ ही व्यापारियों ने भी राहत की सांस ली है। हालांकि नाइट कर्फ्यू समेत कोरोना गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य रहेगा। इसके अतिरिक्त सभी तरह की गतिविधियां पहले की तरह बंदिश के दायरे में रहेंगी।

16 मार्च को लगी थी पांबदी

भोपाल में कोरोना के बढ़ते पॉजिटिव केस को देखते हुए नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया था। इसके बाद 16 मार्च से शहर में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया था। एक दिन बाद ही दूसरे शहरों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया। 26 मार्च को नाइट कर्फ्यू 10 बजे की जगह 9 बजे से कर दिया गया। उसके बाद अब यह खुल रहा है।

ग्वालियर में रविवार को तीन महीने की लंबी खामोशी के बाद बाजारों में फिर रौनक लौटी है। मार्च महीने में संडे कर्फ्यू लागू किया गया था। इसके बाद हालात सुधरे तो 1 जून से बाजारों को अनलॉक किया, लेकिन संडे को कर्फ्यू लागू रहा। अब कोरोना कंट्रोल में है, तो रविवार को बाजारों पर लगाई बंदिश को हटा दिया गया है। यही कारण था कि रविवार सुबह से ग्वालियर के प्रमुख बाजारों में चहल-पहल नजर आई है। लोग खरीदारी करने निकले हैं। जिस वजह से बाजारों के आसपास सड़कों पर वाहनों से ट्रैफिक जाम भी हुआ। रविवार को बाजार खोलने की मांग लंबे समय से व्यापारी कर रहे थे। इसका प्रमुख कारण यही था कि इस दिन अवकाश रहता है और लोग सुकून से खरीदारी करते हैं।

ग्वालियर में संडे को बाजार खुले। बाजारों में भीड़ नजर आई।

इंदौर में रविवार को भी जनता कर्फ्यू से मुक्त करने के आदेश के बाद इंदौर में सुबह पहले हेयर सैलून व गैरेज खुले। दरअसल, अधिकांश लोगों का अवकाश का दिन रविवार ही होता है। तीन महीने से रविवार को जनता कर्फ्यू होने के कारण वे न तो इस दिन कटिंग करा पाते थे और न ही वाहनों के सुधार कार्य व सर्विसिंग।

Advertisement / विज्ञापन

वैसे, शनिवार शाम को रविवार को जनता कर्फ्यू से मुक्त कराने के मुख्यमंत्री के आदेश के बाद ही दुकानदारों ने इसे लेकर मन बना लिया था। इसी कड़ी में फिर इलेक्ट्राॅनिक रिपेयरिंग, हार्डवेयर आदि की दुकानें भी जल्द खुल गई। सुबह नंदलालपुरा, कनाडिया रोड, मालवा मिल, राजकुमार मंडी व पाटनीपुरा पर सब्जी की दुकानें सुबह 8 बजे से ही खोल दी गई। ये दुकानें लम्बे समय से रविवार को बंद रहती थी।

इंदौर में रविवार को बंद रहने वाली कपड़े की दुकानें भी खुल गईं।

 35 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat