उमरिया म.प्र.// नौरोजाबाद //भारतीय मजदूर संघ ने गणेश शंकर विद्यार्थी जी के बलिदान दिवस को सर्व पंथ समादर दिवस के रूप में मनाया

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नौरोजाबाद 26 मार्च –

भारतीय मजदूर संघ द्वारा सर्व पंथ समादर दिवस उमरिया जिले के ग्राम बड़ागांव में भारतीय मजदूर संघ के कार्यकर्ताओं के बीच मे हेतराम यादव की अध्यक्षता में मनाया गया । जिसमें जिलामंत्री राजेशद्विवेदी ने अपने बौद्धिक में ग्रामीणों को बताया की गणेश शंकर विद्यार्थी जी ने 1931 में हिन्दू और मुस्लिम के झगड़े में बिना किसी भेदभाव के झगड़ा शांत कराने का अद्भुत साहस किया तथा 25 मार्च को सुबह से झगड़ा शुरू हुआ जिसमें गणेश शंकर विद्यार्थी व उनके वालिंटियर ने 150 स्त्रियों समेत कई मुस्लिमो को सुरक्षित स्थानो मे भेजा, अपितु कुछ उपद्रवियों ने वालिंटियर पर भी हमला किया। जिसको बचाने में उन्हें चोट भी आई सारी घटनाक्रम में चोटिल होते भी अहिंसा के बल पर कार्य करते रहे और 25 मार्च को लोगो की मदद करते हुए वहीं पर गिर गए। एक मुस्लिम ने उन्हें उठाकर सड़क के किनारे लिटा दिया। चोंट बहुत अधिक गहरी होने की वजह से वही उनकी मृत्यु हो गई। 27 वें दिन पता चला कि यह मृत शरीर गणेशशंकर विद्यार्थी का है और 29 वें दिन उनका अंतिम संस्कार हुआ ,तब महात्मा गांधी और पंडित जवाहरलाल नेहरू ने गहरा दुख व्यक्त किया ,महात्मा गांधी ने कहा अहिंसा के उच्च आदर्शो से युक्त गणेशशंकर बिद्यार्थी हमारे ह्रदयों में बसने वाले इतिहास हैं। जिनके पद चिन्हों को कभी भी नही भुलाया जा सकता ,ऐसे राष्ट्र सेवक के बलिदान दिवस को भारतीय मजदूर संघ सम्पूर्ण भारत मे 25 मार्च के दिन सर्व पंथ समादर दिवस के रूप में मनाता है , उपस्थित सभी कार्यकर्ता व ग्रामीणों द्वारा गणेशशंकर बिद्यार्थी को सत सत नमन किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में उपस्थित जनों को कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे, हेतराम यादव द्वारा आभार प्रगट किया गया तत्पश्चात कार्यक्रम का समापन किया गया।

Advertisement / विज्ञापन


कार्यक्रम में हेतराम यादव, गणपत कोल ,लखन सिंह,धनराज सिंह ,हल्कू , बबलू ,श्रीमती रंची यादव आदि कार्यकर्ताओ व ग्रामीणों ने उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाया।

 34 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat