रीवा/लालगांव//दुर्गा उत्सव में क्षेत्रीय कलाकारों की भजनों ने मचाई धूम

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया में रामजी उपाध्याय की भजन सुर्खियों में

राहुल चतुर्वेदी

नव दुर्गा उत्सव आते ही देश-प्रदेश में दश दिनों तक अलग ही माहौल बना रहता है सामाजिक एवं संस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ-साथ श्रद्धलुओं में भक्ति की जिग्जासा बढ़ जाती है। औऱ यही कारण है कि क्षेत्रीय इलाकों में नव दुर्गा उत्सव के समय चारो तरफ धूम मची रहती है। इस वर्ष कोरोना के चलते भक्तों में भी काफ़ी संसय बना हुआ था, लेकिन सरकार की गाइडलाइंस मिलने से दुर्गा महोत्सव त्योहार में चार चांद लग गई।
रीवा जिले के ग्रामांचल क्षेत्र में भठवा एक मात्र ऐसा मार्केट है जहां पर आम जनता व व्यापारी वर्ग के सहयोग से हर वर्ष मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाती है एवं जगराते में वृहद भजन संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। हालांकी कोरोना की गाइडलाइंस को देखते हुए इस वर्ष वृहद कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया लेकिन क्षेत्रीय कलाकार जनपद सदस्य भजन सम्राट रामजी उपाध्याय की भजन प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया। उपस्थित दर्शक झूम उठे और नृत्य करने लगे। सोसल मीडिया में देखा जाय तो इन दिनों रामजी उपाध्याय द्वारा गाई गई भजनों की भरमार लगी हुई है। जिसमें से विशेतौर पर कल रात माता का मुझे ईमेल आया है के साथ सखी बाजे पग पैजनिया व ऐसा प्यार बहा दे दरस तेरा कर पाऊं मैं, गाना काफ़ी सुर्खियां बटोर रहा है।

संगीतमय आरती बनी लोक लुभावन

आरती में जब बाजता है ताल मृदंगा, तब भक्तों की भक्ति में चेतना और प्रबल हो जाती है। ढोलक झांझ मजीरे के साथ आरती में गौरव शुक्ला, सतेंद्र सोनू शुक्ला, ओम शुक्ला, सुनील उपाध्याय, दीपक सोनी, मेवालाल केवट व बबलू सुरेश के साथ जब कमलनयन की मंडली एकत्रित होकर माता की आरती गाती है तब यह कहना बिल्कुल अतिश्योक्ति नहीं होगा की भक्त रसखान, मीराबाई कबीर, रहीम और तुलसी का अपने ईष्टदेव के प्रति भाव उतपन्न हो रहा है।

हवन व भंडारा

Advertisement / विज्ञापन

दैविक अनुष्ठान में हवन विशेतौर पर किया जाता है। हवन में स्थान देवताओं के साथ साथ कुल देवता व अन्य सभी देवताओं का आवाहन कर विभिन्न सामग्री से बने साकला को अग्नि में डाला जाता है जिससे वातावरण में शुद्धता के साथ चराचर जीवों में असर पड़ने के साथ साथ मन के विचारों में सुद्धता का समावेश हो जाता है। कल हवन का कार्यक्रम सायं चार बजे से किया गया एवं सभी भठवा वासियों के सहयोग से आज भंडारा व प्रसाद का वितरण किया जाएगा तत्पश्चात दशहरे के दिन मां भगवती का विसर्जन किया जाएगा।

 45 Total Views,  4 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat