Khulasa Rajgarh M.P.:-पैसों के लेनदेन एवं प्रॉपर्टी के विवाद के चलते भाई ने की भाई की हत्या

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पैसों के लेनदेन एवं प्रॉपर्टी के विवाद के चलते भाई ने की भाई की हत्या

Advertisement / विज्ञापन

ब्यावरा/राजगढ़ :-
ब्यावरा नगर के समीप ग्राम तलावली निवासी हम्माल देवसिंह जाटव की हत्या के मामले में उसके पुत्र महेंद्र जाटव ने बताया था कि दयाराम के बड़े लड़के आशीष गाय चराने गया तो उसकी नजर शर्ट पर पड़ी आगे देखा तो खंदी में देवीसिंह का मृतावस्था मे शव पड़ा था। सूचना मिलने पर महेंद्र जाटव अपने चाचा रामकरण को लेकर घटनास्थल पर गया तो देखा उसके पिताजी के नाक से खून बह रहा था और गला साफी से कसा था। महेंद्र जाटव की रिपोर्ट पर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी। एसडीओपी किरण अहिरवार ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर बताया कि मृतक देवसिंह के मकान के पास ही शिवनारायण का खंडहर वाला मकान था जिसे 20 हजार रूपये में देवसिंह ने खरीदा लिया था लिखा पढ़ी देवसिंह के भाई रामकरण ने देवसिंह के नाम ना कराते हुए अपने नाम करा ली। इसी बात को लेकर दोनों भाइयों के बीच काफी रंजिश बढ़ गई थी। देवसिंह शराब के नशे में रामकरण को गालियां देता रहता था इसलिए रामकरण अपने भाई देवसिंह से काफी परेशान रहता था रामकरण को अपने भाई पर यह भी शंका बनी हुई थी कि मकान जो खरीदा है वह कभी भी मेरा भाई देवसिंह झगड़ा करके ले लेगा। इस कारण रामकरण ने अपने भाई देवसिंह को रास्ते से हटाना चाहा था। 14 जुलाई की रात करीब 9:30 बजे देवसिंह को गांव के बाहर बनी टंकी के पास अकेला सोता हुआ देखा तो देवसिंह का सीधा हाथ जोर से मरोड़ा देवसिंह ने पत्थर उठाकर अपने भाई रामकरण को मारना चाहा परंतु हाथ काम नहीं कर सका देवसिंह भागा और दूर खेत में निकल गया परंतु उसका भाई रामकरण पीछा करता रहा, आखिरकार रामकरण ने भारतसिंह जाटव के खेत के पास बनी खंदी में पटककर देवसिंह का गला साफी से कसकर पीछे से दो गठान लगा दी, जिससे देवसिंह की नाक से खून निकलने लगा तो रामकरण अपने भाई को छोड़कर अपने घर आ गया आरोपी रामकरण ने पूछताछ पर अपने भाई की हत्या करना कबूल किया आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।

 324 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!