उमरिया म.प्र.// राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के व्दारा संचालित सहभागी सीख एवं क्रियान्वयन (PLA) बैठको के विस्तारण की उठीं मांग

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


उमरिया 22 फरवरी –

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के व्दारा संचालित सहभागी सीख एवं क्रियान्वयन (PLA) बैठक जो जिले के हर गांव में हर माह एकजुट स्वयं सेवी संस्था भोपाल के कुशल मार्गदर्शन और सहारा मंच के व्दारा संचालित की जा रही हैं , ये बैठके नागरिकों के साथ ही साथ जिले के जन प्रतिनिधियों को भी पसंद आ रही हैं । इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए उमरिया जिले की

जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री ज्ञानवती सिंह जी ,

विधायक शिव नारायण सिंह

जनपद पंचायत पाली की अध्यक्ष श्रीमती माया सिंह

के साथ जिले के सैकड़ों जन प्रतिनिधियों और लोक सेवको ने पत्र लिख कर लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री से आग्रह किया है कि स्वास्थ्य के अन्य बिन्दुओ जैसे (कुपोषण, बालविवाह, किशोरी स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों) को जोड़ते हुए इस कार्यक्रम के विस्तार और सतत रूप से चलाने की मांग की है। आप सभी ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि हम इन बैठकों में भाग लेकर इनकी गुणवत्ता को जांचा, परखा हैं ये बैठके अत्यंत गुणकारी समाज के लिए उपयोगी साबित हो रही हैं ।


विदित होवे कि सहभागी सीख एंव क्रियान्वयन बैठकों के माध्यम से गांव की आशा सहयोगनियो , आशा कार्यकर्ताओं और सेहत सखियों के व्दारा हर गांव मे गर्भवती , शिशुवती ,किशौरी बालिकाओं और अन्य महिलाओं के साथ हर माह एक बैठक का आयोजन कर उन्हें खेल-खेल , नुक्कड नाटक , और चित्र कार्डो को दिखा कर सरल सहज रुप से उन्हें समझाने बुझाने और जोड कर समाज में जागरूकता लाने का काम कर रही हैं ।

सहभागी सीख एवं क्रियान्वयन बैठकों का मुख्य उद्देश्य समाज में समझ विकसित कर मां और शिशुओं के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का हैं । इसे सफल बनाने के लिए एकजुट संस्था ने चार चरणो मे बनाया है । प्रथम चरण में समस्याओं की पहचान दुसरे चरण मे समस्याओं को दूर करने की रणनीति तैयार करना , तीसरे चरण में रणनीतियों का क्रियान्वयन और फिर मूल्यांकन की प्रक्रिया को शामिल किया गया है । ध्यान देने योग्य है कि रणनीतियों के निधारण मे गांव की समस्या का गांव में निदान की योजना बनाकर रूढि वादिता से उबारकर स्वास्थ्य सेवाओं तक उनकी पहुंच बनानी है ।

Advertisement / विज्ञापन


सहभागी सीख एवं क्रियान्वयन बैठकों की सराहना करते हुए जन प्रतिनिधियों ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि यह कार्यक्रम के संचालन से गांव में जन जागरूकता पैदा हुई हैं और स्वास्थ्य सूचकांकों मे आशातीत सफलता हासिल किया है । समुदाय आधारित इस अभियान के कारण माताओ और शिशु ओ की होने वाली मौतों मे गिरावट आई हैं । पंजीयन, टीकाकरण , चार जांच, संस्था गत प्रसव मे आशातीत लक्ष्य देखने को मिल रहे हैं ।यह कार्य क्रम अपने लक्ष्य की दिशा मे आगे चलकर समाज के लिए कल्याणकारी साबित होगा ।

 98 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat