Bhopal MP Khulasa//MP के 11 जिलों में घर बैठे होगी टेस्टिंग:कोरोना के बढ़ते संक्रमण रोकने के लिए मोबाइल टीमें फिर तैनात होंगी, एनएचएम ने आदेश जारी किए?!!

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
मध्यप्रदेश के बढ़ते संक्रमण वाले जिलों में घर पर टेस्टिंग और कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिए मोबाइल टीमें फिर तैनात होगी

मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना पर लगाम लगाने के लिए फिर मोबाइल टीमें तैनात होंगी। इन टीमों को ज्यादा संक्रमण प्रभावित 11 जिलों में तैनात किया जाएगा। इनका काम संक्रमितों की घर पर ही टेस्टिंग और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करना होगा। इस संबंध में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) की मिशन संचालक छवि भारद्वाज ने टीम में अस्थायी रूप से चिकित्सक, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ रखने के आदेश जारी किए

भी कलेक्टर्स और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को जारी आदेश में स्टाफ की अस्थायी नियुक्ति 31 मार्च 2021 तक करने की बात कही गई है। प्रत्येक टीम में एक चिकित्सक (आयुष/दंत शल्य/चिकित्सा अधिकारी), एक लैब टेक्नीशियन, एक स्टाफ नर्स की अस्थायी तैनाती की जाएगी। इनकी तैनाती कलेक्टर्स के निर्देश पर सीएमएचओ करेंगे।

इंदौर में 30 और भोपाल में 20 टीमें

आदेश के अनुसार इंदौर के लिए 30, भोपाल के लिए 20, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन में 10-10 टीमों को दोबारा तैनात किया जाएगा। सागर में 5, खरगोन, बैतूल, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, रतलाम के जिला मुख्यालय पर 1-1 टीम तैनात की जाएगी।

फीवर क्लीनिक में स्टाफ रखने की अनुमति

सभी 11 जिलों में फीवर क्लीनिक जिनमें 10 से कम सैंपल प्रतिदिन लिए जा रहे थे, जो फीवर क्लीनिक दोबारा शुरू किए जा रहे है। उनमें एक लैब टेक्नीशियन को रखने की स्वीकृति दी गई है। बाकी फीवर क्लीनिक, जिनमें 10 से अधिक सैंपल प्रतिदिन हो रहे थे। उनमें एक अस्थायी चिकित्सक व अस्थायी एक लैब टेक्नीशियन को ही निरंतर रखने की अनुमति दी गई है। इसके अलावा बाकी जिलों के फीवर क्लीनिक जहां 10 से ज्यादा सैंपल प्रतिदिन लिए जा रहे हैं, वहां 1 आयुष चिकित्सक व एक लैब टेक्नीशियन और 10 से कम सैंपल वाले फीवर क्लीनिक में एक लैब टेक्नीशियन को अस्थायी रूप से 31 मई तक रखने की अनुमति दी गई है।

इनकी भी होगी भर्ती

Advertisement / विज्ञापन

आदेश में भोपाल में 15, इंदौर में 15, जबलपुर में 10, ग्वालियर में 10, उज्जैन में 7, सागर में 7 बाकी जिलों में 5-5 डाटा एंट्री ऑपरेटर रखने की स्वीकृति दी गई है। इनसे कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में अस्थायी रूप से काम लिया जाएगा। इसके अलावा सागर, उज्जैन, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल व रीवा संभागीय मुख्यालय पर 2 फार्मासिस्ट और प्रति जिला स्तर पर 1 फार्मासिस्ट को अस्थायी रूप से रखा जाएगा।

 23 Total Views,  2 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat