Jaipur Khulasa// हिंदुत्व कार्ड खेलने पर BJP पर निशाना:CM गहलोत बोले- आज हिंदुत्व और धर्म के नाम पर सरकारें बन रही हैं, धर्म के बाद ये जातियों में झगड़े करवाएंगे

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
जलियांवाला बाग दिवस पर वर्चुअल गोष्ठी में बोलते सीएम अशोक गहलोत।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा पर निशाना साधते हए कहा है कि आज धर्म के नाम पर राजनीति हो रही है। लोग कामयाब भी हो रहे हैं और खुश भी हो रहे हैं। हमारे देश की पहचान उस रूप में नहीं है जिस रूप में आज धर्म के नाम पर, हिंदुत्व के नाम पर सरकारें बन रही हैं। मैंने एक बार कहा था आज ये हिंदू, मुस्लिम, सिख ईसाई करेंगे। धर्म पर बांटने के बाद ये दलित, ब्राह्मण, वैश्य जाति के नाम पर झगड़े करवाएंगे। यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण और खतरनाक है। गहलोत जलियांवाला बाग गोलीकांड की बरसी पर आयोजित वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में बोल रहे थे। गहलोत ने कहा कि छुआछूत मानवता के नाम पर कलंक है। क्या युवाओं को इसके खिलाफ आवाज नहीं उठानी चाहिए। अंग्रेज अपने आपको सुपीरियर मानते थे। गौरी और काली चमड़ी की बात करते हुए भेदभाव करते थे। इसी आधार पर लोगों को गुलाम रखा था। आज भी गुलामी है, जो गुलाम हैं, वे गुलामों की तरह ही रह रहे हैं।

देश को लोकतंत्र और वोट का राज कांग्रेस ने दिया
देश को लोकतंत्र और वोट का राज कांग्रेस ने दिया। धर्मनिरपेक्षता, समाजवाद की बात कांग्रेस ने की। यह हमारे संविधान की मूल भावना है। हमारे राज्यपाल हर बैठक में संविधान की मूल भावना का पाठ करवाते हैं। बिना संविधान देश कैसे चलेगा। लोकतंत्र किस दिशा में जा रहा है, कौन सोचेगा? युवाओं को इस पर सोचना होगा। गलत को गलत और सही को सही कहना होगा। यह देश युवाओं का देश है। राजीव गांधी जब पीएम बने थे तब से युवाओं का ही देश बना हुआ है। आजादी की जंग में भी युवाओं की ही भूमिका थी। पंडित नेहरू 10 साल जेल में बंद रहे। उस जमाने की जेलें कैसी होती थीं आप जान सकते हैं।

Advertisement / विज्ञापन

तरुणाई को अंगड़ाई लेने का वक्त आ गया, लोकतंत्र को बचाने की जिम्मेदारी युवाओं की
गहलोत ने कहा कि अंग्रेजों के जमाने में गांधीजी ने चंपारण सत्याग्रह किया। आज क्या हो रहा है। किसान 5 माह से बैठे हैं। कोई सुनने वाला नहीं है। लोकतंत्र में सबकी बात सुननी चाहिए। आंदोलन खत्म करने का कोई रास्ता निकालना चाहिए। तरुणाई को अंगड़ाई लेनी चाहिए। अब समय आ गया है। लोकतंत्र को बचाने की जिम्मेदारी युवाओं की है। युवाओं को उस हिसाब से ही व्यवहार करना होगा। राज्य में ऐसा प्लेटफार्म बने जहां लगातार बात होती रहे। देश प्रदेश में मुद्दों पर डिबेट हो। तभी युवा पीढ़ी समग्र विकास कर पाएगी।

 37 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat