Jabalpur MP KHULASA//-विज्ञान महाविद्यालय के भूगर्भशास्त्र विभाग द्वारा पाँचदिवसीय व्याख्यानमाला का हुआ आयोजन

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

विज्ञान महाविद्यालय के भूगर्भशास्त्र विभाग द्वारा पाँचदिवसीय व्याख्यानमाला का हुआ आयोजन

प्रख्यात भूवैज्ञानिक श्री एन के दत्ता ने छात्रों को पढ़ोगे तो बढ़ोगे का दिया सफलता का मंत्र

मध्यप्रदेश के जियोलाॅजी हब जबलपुर को दुनिया में पहचान दिलाने जिले में जिओलॉजिकल पार्क स्थापित किए जाने की बताई आवश्यकता

जबलपुर(मध्यप्रदेश)।

मध्यप्रदेश उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार वर्ल्ड बैंक प्रोजेक्ट के क्वालिटी इम्प्रूवमेंट प्रोग्राम के तहत् शासकीय विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर के भूगर्भशास्त्र विभाग द्वारा महाविद्यालय प्राचार्य डाॅ ए एल महोबिया की अनुमति से आर्थिक भूविज्ञान विषय पर 8 से 12 फरवरी तक पाँच दिवसीय ऑनलाइन व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया।जिसमें रिसोर्स पर्सन के रूप में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग के भूतपूर्व डायरेक्टर जनरल व प्रख्यात भूवैज्ञानिक श्री एन के दत्ता द्वारा आर्थिक भूविज्ञान,भूविज्ञान के सैद्धांतिक व व्यवहारिक उपयोग से अवगत कराने के साथ ही विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं को भी सुलझाया गया।साथ ही दुर्लभ उच्चकोटि की पुस्तकें व सामग्री भी उपलब्ध कराई गई।

व्याख्यानमाला के पहले दिन आर्थिक भूविज्ञान का परिचय,महत्व व संभावनाएँ,दूसरे दिन कोयले की उत्‍पत्ति,महत्व,विश्व, भारत,मध्यप्रदेश में कोयले की प्राप्ति,अन्वेषण व उत्खनन, तीसरे दिन पेट्रोलियम की उत्‍पत्ति,स्रोत स्थान,शोधन,उपयोग,प्राप्ति व दमोह जिले के जवेरा में पेट्रोलियम व गैस के भण्डार मिलने,चौथे दिन रेडियोधर्मी खनिज परिचय,महत्व और ऊर्जा के लिए संभावना,प्राप्ति व छतरपुर जिले के मड़देवरा में यूरेनियम मिलने पर विस्तृत जानकारी दी।व्याख्यानमाला के अंतिम दिन भूवैज्ञानिक फील्ड वर्क करने संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई,साथ ही प्रायोगिक समस्याओं को हल करने की तकनीकों को पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से समझाया गया। व्याख्यानमाला के समापन पर प्रख्यात भूवैज्ञानिक श्री एन के दत्ता द्वारा विद्यार्थियों को सफलता की ऊँचाइयों को छूने पढ़ोगे तो बढ़ोगे का मूल मंत्र दिया गया।इस दौरान उन्होंने विज्ञान महाविद्यालय के भूगर्भशास्त्र विभाग के प्रयासों को सराहते हुए प्रदेश में भूगर्भशास्त्र के लिए सर्वश्रेष्ठ होने की बात कही।वहीं मध्यप्रदेश के जियोलाॅजी हब कहे जाने वाले जबलपुर जिले को वैश्विक पहचान दिलाने जिले में जिओलॉजिकल पार्क स्थापित किए जाने की भी आवश्यकता बताई।

इस ज्ञानवर्धक सारगर्भित व्याख्यानमाला को प्रोफेसर डाॅ संजय तिगनाथ,डाॅ बी एस राठौर,डाॅ ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह,डाॅ पी के जैन,डाॅ देवेंद्र कुमार देवलिया,डाॅ रोहिनी सिंह सहित सभी प्रोफेसरों ने अत्यंत उपयोगी व महत्वपूर्ण बताते हुए प्रख्यात भूवैज्ञानिक श्री एन के दत्ता सर भूतपूर्व डायरेक्टर जनरल जीएसआई का हार्दिक आभार प्रकट किया।वहीं विद्यार्थियों में विज्ञान महाविद्यालय से आयुषी कोचर ने अनुभव साझा करते हुए बताया कि इससे उन्हें महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी,पढ़ने का तरीका,परीक्षोपयोगी जानकारी मिली,दीक्षा ने बताया कि उन्हें इसमें शामिल होकर अत्यंत खुशी मिली और यह उनके लिए अत्यंत उपयोगी और ज्ञानवर्धक रहा,मौलिक पाण्डेय ने बताया कि इससे उन्हें बहुमूल्य ज्ञान और पढ़ने की अनोखी तकनीक सीखने को मिली,मदन साहू ने अनुभव साझा करते हुए बताया कि इससे उन्हें एक महान् भूवैज्ञानिक का अनुभव,मार्गदर्शन,उत्कृष्ट अध्ययन की सीख,अमूल्य ज्ञान और प्रेरणा मिला जिससे उनकी भूविज्ञान के प्रति और भी जिज्ञासा बढ़ी,गौतमी हरोडे ने इसे विद्यार्थीहित में एक महान कार्य बताया।वहीं महाराजा महाविद्यालय छतरपुर से शामिल अश्विन बेहेरे ने इसे ज्ञान से भरपूर और मार्गदर्शी,काजल खरे ने कई वर्षों का अनुभव कुछ ही दिनों में प्राप्त करना बताकर सराहते हुए हार्दिक आभार प्रकट किया।वहीं विद्यार्थियों ने आयोजन के लिए विभागाध्यक्ष डाॅ संजय तिगनाथ का आभार प्रकट करते हुए,भविष्य में भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाने की तीव्र इच्छा जताई।

Advertisement / विज्ञापन

इस पाँच दिवसीय व्याख्यानमाला में शासकीय विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर से डाॅ संजय तिगनाथ विभागाध्यक्ष भूगर्भशास्त्र विभाग,डाॅ बी एस राठौर,डाॅ देवेंद्र कुमार देवलिया,डाॅ मीनाश्री कपूर, अनिल कुमार नेमा,डाॅ ईश्वर दांगी,डाॅ रोहिनी सिंह और भूगर्भशास्त्र विभाग के स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों ने सार्थक भूमिका निभाई।वहीं शासकीय महाराजा महाविद्यालय छतरपुर ने आतिथ्य रूप में डाॅ ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह विभागाध्यक्ष भूगर्भशास्त्र विभाग,डाॅ पी के जैन,अतिथि विद्वान राहुल ताम्रकार व ज्योति त्रिपाठी और भूगर्भशास्त्र के स्नातकोत्तर विद्यार्थियों ने सराहनीय योगदान दिया।कार्यक्रम को सफल बनाने में सभी के सराहनीय योगदान के लिए आयोजक समिति डाॅ संजय तिगनाथ विभागाध्यक्ष,डाॅ बी एस राठौर, डाॅ देवेंद्र कुमार देवलिया व डाॅ अनिल कुमार नेमा ने सभी का आभार जताया।कार्यक्रम का सफल संचालन अतिथि विद्वान डाॅ रोहिनी सिंह द्वारा किया गया।

 238 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat