Khulasa Rajgarh M.P.:-कोरोना कर्फ्यू की अवधि16 मई, 2021 तक बढ़ाने शादी-विवाह पर भी पूर्णतः प्रतिबंध लगाने का दिया सुझाव

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों द्वारा,कोरोना कर्फ्यू की अवधि16 मई, 2021 तक बढ़ाने
शादी-विवाह पर भी पूर्णतः प्रतिबंध लगाने का दिया सुझाव


Advertisement / विज्ञापन

जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों द्वारा आयोजित बैठक में कोरोना कर्फ्यू की अवधि 16 मई, 2021 तक बढ़ाने एवं शादी-विवाह के आयोजनों में प्रतिबंधात्मक आदेश का पालन नही करने के मद्देनजर शादी-विवाह पर भी पूर्णतः प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया गया है। उन्होने जिले के ग्रामीण अंचलों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों को दृष्टिगत रखते हुए अपनी चिन्ता भी व्यक्त की। आयोजित बैठक में सांसद रोड़मल नागर, विधायक कुवंर कोठार, रामचन्द्र दांगी तथा वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से विधायक प्रियव्रत सिंह खिचीं, कलेक्टर नीरज कुमार सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत केदार सिंह, अपर कलेक्टर कमल चन्द्र नागर, एडीशनल एस.पी. सहित समिति सदस्य मौजूद थे।
बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर श्री सिंह ने कोरोना संक्रमित रोगियों के उपचार आक्सीजन दवाईयों की उपलब्धता तथा जिले में संभावित कोरोना मरीजों की पहचान के लिए चलाए जा रहे घर-घर सर्वे कार्य तथा दवा वितरण आदि की विस्तृत जानकारी दी। उन्होने समिति सदस्यों से कहा कि शादि-विवाहां में 10 व्यक्ति से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने के प्रतिबंध का पालन नागरिकगण नही कर रहे है। जुर्माने और एफ.आई.आर. भी कराई जा रही है, से भी नागरिकगण कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति लापरवाही कर रहे हैं। उन्होने कहा कि जनस्वास्थ्य सबसे पहले है। इसे दृष्टिगत रखते हुए उन्होने जिला स्तरीय संकट प्रबंधन समूह से सुझाव चाहे।
चर्चा के दौरान उन्होने निर्देषित किया कि सर्वे में पहचान किए गए रोगियों को दवाएं उपलब्ध कराए जाने हेतु ग्राम पंचायत की स्वास्थ्य समिति को प्रदान 10-10 हज़ार रूपये राशि से क्रय की जाए। इसके साथ ही उन्होने पंचायतों में डोडी पिटवाकर कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर प्रतिबंधो की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने तथा जनपदों एवं नगरीय निकाय क्षेत्रों में चलित वाहन द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से नागरिकों को कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति जागरूक करना, योग करना तथा भाप लेने आदि के लिए प्रचार-प्रसार करने के निर्देष दिए।

 220 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat