Bhopal Khulasa//गोडसे यात्रा के लिए मांगी अनुमति:हिंदू महासभा का ऐलान चाहे कुछ भी हो जाए 14 मार्च को यात्रा निकालेंगे, देश का बच्चा-बच्चा गोडसे को जानेगा

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
हिंदू महासभा कार्यालय में बैठे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज व अन्य कार्यकर्ता गोडसे यात्रा की प्लानिंग करते हुए, इस दौरान गोडसे जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए!
  • हिंदू महासभा नेता बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में जाने के बाद छिड़ा है विवाद
  • गोडसे को लेकर लगातार किए जा रहे आयोजन, दो दिन में आएगा प्रशासन का जवाब

आखिरकार हिंदू महासभा ने ग्वालियर से दिल्ली तक गोडसे यात्रा निकालने की ठान ली है। हिंदू महासभा के नेताओं का कहना है कि चाहे कुछ भी हो जाए अब देश का बच्चा-बच्चा गोडसे को जानेगा और उन्होंने यह कदम क्यों उठाया उसके पीछे क्या वजह थी यह भी युवाओं को पता लगेगी। गोडसे यात्रा के लिए गुरुवार को हिंदू महासभा ने अनुमति मांगी है। हिंदू महासभा की ओर से प्रदेश महामंत्री विनोद जोशी ने अनुमति के लिए ONLINE आवेदन कर दिया है। दो दिन में प्रशासन भी इस पर अपना रूख स्पष्ट कर देगा।

अखिल भारत हिन्दू महासभा 14 मार्च को गोडसे यात्रा निकालने जा रही है जो ग्वालियर में महासभा के ​कार्यालय दौलतगंज से शुरू होगी और सड़क मार्ग से होते हुए दिल्ली में हिन्दू महासभा भवन मंदिर मार्ग पर राष्ट्रीय नेताओं की भागीदारी के साथ पूरी होगी। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने बताया कि यात्रा के माध्यम से नाथूराम गोडसे के बारे में लोगों को बताया जाएगा। ग्वालियर से दिल्ली तक पूरे रास्ते गोडसे के ज्ञान को बांटा जाएगा। यह निर्णय दो दिन पहले हुई कार्यकर्ताओं की बैठक में लिया गया है। हिंदू महासभा की गोडसे यात्रा निकालने का मकसद सिर्फ इतना है कि देश का बच्चा-बच्चा गोडसे के बारे में जाने। क्योंकि अभी तक लोग उनके सही साहित्य से अनजान हैं। इसलिए यह यात्रा निकालना और भी ज्यादा जरूरी है। इसके लिए गुरुवार को महासभा की ओर से प्रदेश महामंत्री विनोद जोशी ने ONLINE आवेदन यात्रा की अनुमति के लिए कर दिया है। अब इस पर प्रशासन को फैसला लेना है।

बाबूलाल के कांग्रेस में जाने के बाद छिड़ा है विवाद

वैसे तो हिंदू महासभा हमेशा से गोडसे को लेकर चर्चा में रहती है। चाहे वह गोडसे मंदिर हो, गोडसे की ज्ञान शाला हो, लेकिन इस बार चर्चा का कारण महासभा नेता व गोडसे भक्त बाबूलाल चौरसिया का कांग्रेस में जाना है। बाबूलाल कांग्रेस में तो गए, लेकिन उन्होंने झूठ बोला कि गोडसे मंदिर के समय उन्हें धोखे में रखकर गोडसे की पूजा कराई। इस मामले में हिन्दू महासभा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ को पत्र लिखा था। जिसमें कहा गया था कि वह कांग्रेस का नाम बदलकर गोडसे वादी कांग्रेस रख लें। जिसका जवाब अभी तक नहीं मिला इसलिए हिन्दू महासभा दिल्ली जाकर प्रदर्शन करेगी।

प्रशासन रख रहा हर हरकत पर नजर

Advertisement / विज्ञापन

हिंदू महासभा के तेवर देखकर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन भी लगातार उनकी हर हरकत पर नजर रखे हुए है। जिला प्रशासन को आशंका है कि गोडसे यात्रा से माहौल खराब हो सकता है। इसलिए वह लगातार महासभा नेताओं को रोकने का प्रयास करेगा। इससे पहले भी गोडसे मंदिर की स्थापना, गोडसे की ज्ञान शाला बनने के बाद प्रशासन हरकत में आया था और उसे बंद कराया था।

 49 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat