Indore MP Khulasa//इंदौर पहला शहर:जहां ट्रैफिक सुधारने केबल कार चलाएंगे, कंपनी ने प्रेजेंटेशन दिया; जवाहर मार्ग से राजबाड़ा, कालानी नगर से सुदामा नगर तक होगा फिजिबिलिटी सर्वे!

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
प्रतीकात्मक फोटो।

इंदौर में मेट्रो तो शुरू नहीं हो सकी, लेकिन अब केबल कार के लिए फिजिबिलिटी सर्वे की तैयारी शुरू हो गई है। इसे लेकर पहली बैठक गुरुवार को हुई। इसमें देश के विभिन्न स्थानों पर केबल कार चलाने वाली कंपनियों ने प्रेजेंटेशन दिया। अब तक देश के किसी भी शहरी क्षेत्र में सड़क पर ट्रैफिक की सुगमता के लिए केबल कार नहीं चली है। इंदौर देश का पहला शहर होगा, जहां यह सुविधा शुरू होगी। जवाहर मार्ग से राजबाड़ा, कालानी नगर से सुदामा नगर, क्लॉथ मार्केट से महाराणा प्रताप नगर और इंदौर रेलवे स्टेशन से भंवरकुआं तक के रूट के लिए फिजिबिलिटी सर्वे किया जाएगा।

तीन माह पहले सीएम ने दी थी रोप-वे केबल कार को मंजूरी
संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा के समक्ष गुरुवार को केबल कार चलाने वाली कंपनी वेपकोस ने प्रेजेंटेशन दिया। 6 जनवरी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर प्रवास के दौरान रोप-वे केबल कार चलाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। इसी के बाद संभागायुक्त द्वारा यह पहली बैठक ली गई। कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि अब तक पर्यटन स्थलों पर ही रोप-वे केबल कार संचालित हो रही है। इसमें शिमला, देवास, पहलगाम सहित अन्य क्षेत्रों की जानकारी दी। बैठक में कंपनी के अधिकारियों के अलावा आईडीए सीईओ विवेक श्रोत्रिय और नगर भाजपा अध्यक्ष गौरव रणदिवे उपस्थित थे।

00 करोड़ का होगा प्रोजेक्ट
प्रेजेंटेशन में कलेक्टर मनीष सिंह ने घने बसे मध्य क्षेत्र में इस सुविधा की बात कही। खासकर रेलवे स्टेशन को जोड़ते हुए। यह रूट करीब नौ से दस किमी का होगा। इससे इन क्षेत्रों में वाहनों की आवाजाही में कमी आ सकेगी और ट्रैफिक सुगम होगा। यह प्रोजेक्ट करीब 500 करोड़ का होगा।

Advertisement / विज्ञापन

4 व्यस्ततम क्षेत्रों का रखा गया प्रस्ताव
प्रेजेंटेशन में शहर के चार व्यस्ततम क्षेत्रों में विभिन्न चरणों में केबल कार शुरू करने का प्रस्ताव रखा गया है। इसमें जवाहर मार्ग से राजबाड़ा, कालानी नगर से सुदामा नगर, क्लॉथ मार्केट से महाराणा प्रताप नगर और इंदौर रेलवे स्टेशन से भंवरकुआं तक के चार क्षेत्रों में रोप-वे केबल कार चलाने का प्रस्ताव रखा गया। आईडीए द्वारा इसका फिजिबिलिटी सर्वे करवाया जाएगा। इसमें तय होगा कि केबल कार इंदौर में चलाई जा सकती है या नहीं। इसके साथ ही इसकी लागत, डिजाइन सहित सभी के लिए टेंडर जारी किया जाएगा। संभागायुक्त ने बताया कि शीघ्र ही सांसद, विधायक और अन्य जनप्रतिनिधियों से चर्चा के बाद प्रस्तावित रोप-वे केबल नेटवर्क के रूट का निर्धारण किया जाएगा।

 28 Total Views,  2 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat