Khulasa Rajgarh M.P.:-नाबालिक बालक को बहला-फुसलाकर कर बनाए महिला ने अवैध संबंध, महिला सहित 3 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

नाबालिक बालक को बहला-फुसलाकर कर बनाए अवैध संबंध,महिला को पुलिस टीम ने किया गिरफ्तार,अपराध में शामिल अन्य 03 आरोपी भी गए सलाखों के पीछे।

Advertisement / विज्ञापन

भोजपुर।। थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गंभीर मामला सामने आया है, वहीं पुलिस टीम ने भी तत्परता दिखाकर मामले के आरोपियों को गिरफ्तार करने में देर न करते हुए उन्हें उनके वाजिब मुकाम तक पहुंचाकर पीड़ित को न्याय दिलाने में सकारात्मक भूमिका अदा की है।
ग्राम खेमापुरा में निवासरत एक नाबालिग बालक के साथ किया गया कृत्य निष्चय ही काफी गंभीर प्रकृति का है जहां एक व्यस्क महिला द्वारा नाबालिग बालक को बहला-फुसलाकर उसके साथ अवैध संबंध बनाए साथ ही उसका शारीरिक शोषण भी किया है। राजगढ़ जिले में इस प्रकार का यह मामला प्रथम बार संज्ञान में आया है।
सूचना मिलने के तुरंत बाद ही मामले की गंभीरता को देखते हुए उक्त नाबालिक बालक की काउंसलिंग चाइल्डलाइन राजगढ़ के प्रभारी अधिकारी मनीष दांगी व उनकी टीम द्वारा की गई, काउंसलिंग उपरांत चाइल्डलाइन की टीम के द्वारा महिला व उसके परिजन के विरुद्ध कार्रवाई करने हेतु लिखित प्रतिवेदन थाना भोजपुर पर दिया गया। थाने पर प्राप्त जानकारी के आधार पर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को मामले से अवगत कराया गया, जिन्होंने उक्त प्रकरण को प्राथमिकता से संज्ञान में लेते हुए तुरंत कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिये जिस पर आरोपियों के विरूद्ध थाना भोजपुर में अपराध क्रमांक 160/21 धारा 384, 427 भादवि एवं 5/6 पोक्सो एक्ट के तहत पंजीबद्ध कर अनुसंधान में लिया गया।
नाबालिक बालक की मानसिक स्थिति को देखते हुए उसकी काउंसलिंग ऊर्जा डेस्क व चाइल्डलाइन द्वारा की जा रही है अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद एवं अनुविभागीय पुलिस अधिकारी अनुभाग राजगढ़ अंतर सिंह जमरा के द्वारा अपराध अनुसंधान हेतु मार्गदर्शन प्रदाय किया, तत्काल ही निरीक्षक अवधेश सिंह तोमर थाना प्रभारी थाना भोजपुर के नेतृत्व में टीम गठित की गई, और टीम ने आरोपियों की तलाष के लिये योजना अनुसार कार्य करना प्रारंभ किया गया जानकारी लेने पर संज्ञान में आया कि घटना दिनांक से ही आरोपीगण घर से फरार थे जिन को पकड़ने के लिए पुलिस द्वारा सघन चेकिंग व जगह-जगह दबिश दी जा रही थी।
अनुसंधान में लगी टीम द्वारा आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के लिये मुखबिरों को काम पर लगाया गया था वहीं आरोपी महिला, उसका पति एवं सास, ससुर के बारे में सूचना मिलने पर दिनांक 31.05.2021 को तड़के ही पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के दबोचने के लिये दबिष दी और पुलिस को सफलता प्राप्त हुई। चारों आरोपियों को विधिवत हिरासत में लेकर माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया जिन्हें न्यायालय के द्वारा जेल भेज दिया गया है।
इस प्रकार के अपराध बहुत कम संज्ञान में आते हैं यह समाज में घटित सबसे घृणित श्रेणी के अपराध है इस प्रकार के अपराध संज्ञान में आना भी बहुत आवश्यक है, पुलिस एवं चाइल्डलाइन राजगढ़ द्वारा लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा है जिससे नाबालिक बच्चों पर होने वाले अपराधों से उन्हें बचाया जा सके और बेहतर परिवेश उपलब्ध कराया जा सके।

        
       

               
        

 338 Total Views,  3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat