Bhopal MP Khulasa//स्लो-मोशन में न्याय:सीएम हेल्पलाइन… शहर में पुलिस के खिलाफ 4 महीने में 972 शिकायतें, इनमें 100 दिन बाद भी 184 पेंडिंग!

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
एफआईआर नहीं लिखने और धीमी जांच करने के सबसे ज्यादा मामले।

मप्र पुलिस के खिलाफ सीएम हेल्पलाइन में की गईं शिकायतों के ताजा आंकड़े सामने आए हैं। यदि 31 मार्च 2021 तक के आंकड़ों पर नजर डाले तो पुलिस के खिलाफ प्रदेशभर में 17,141 शिकायतें दर्ज हुईं। इनमें 972 शिकायतें भोपाल की हैं। सबसे ज्यादा मामले एफआईआर नहीं लिखने और धीमी गति से जांच के हैं। इन शिकायतों में से 772 का 100 दिन बाद भी निराकरण नहीं हुआ, जिनमें 184 शिकायतें भोपाल की भी शामिल हैं। इनमें समय पर एफआईआर नहीं लिखने या गलत धाराओं में केस दर्ज करने के मामले हैं।

चार महीने… यानी 31 मार्च 2021 तक की ये है स्थिति

  • 17,141 शिकायतें प्रदेशभर में दर्ज हुईं
  • 772 शिकायतों का निराकरण नहीं
  • 184 शिकायतें भोपाल की भी पेंडिंग

एक साल पहले भी यह हाल था

अप्रैल 2019 से मार्च 2020 के बीच 41,464 शिकायतें आई थीं, जिनमें बताया गया था कि पुलिस ने फरियादी के कहने पर एफआईआर नहीं लिखी या फिर लिखने में बहुत विलंब किया। कुछ शिकायत सही धाराओं में एफआईआर नहीं लिखने की भी थी, जबकि दूसरे नंबर पर 26,632 ऐसी शिकायतें थीं, जिनमें बताया है गया कि पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी जल्दी नहीं की और फरियादी पर राजीनामे के लिए दबाव बनाया। तीसरे नंबर पर 22,913 ऐसी शिकायतें थीं, जिनमें फरियादी ने बताया कि पुलिस ने विवेचना में लापरवाही की और समय पर चालान पेश नहीं किया। इसे लेकर कांग्रेस सरकार ने एक कमेटी बनाई थी कि लापरवाही बरतने वाले अफसर से सवाल-जवाब किए जाएं, लेकिन मार्च में सरकार बदल गई।

अब की जाएगी मॉनीटरिंग
गृह विभाग अब ऐसी शिकायतों की मॉनीटरिंग करवा रहा है। जिन मामलों में सर्वाधिक लापरवाही बरती जा रही है, उनमें संबंधित जांच अधिकारी पर कार्रवाई की बात की जा रही है।

Advertisement / विज्ञापन

समीक्षा कर सुधार करेंगे
^सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों की जानकारी लेकर समीक्षा करेंगे। इस समीक्षा में यह पता चला है कि बीते एक साल में शिकायतों का आंकड़ा कम हुआ है। इसे और कम करेंगे। फरियादी थाने में जाकर डरे नहीं और आरोपी बचे नहीं ऐसे इंतजाम करेंगे।
-नरोत्तम मिश्रा, गृहमंत्री, मप्र शासन

 45 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat