Khulasa Delhi// New Delhi-अर्थव्यवस्था, एमएसपी, राहुल गांधी, ममता बनर्जी, सीतारमण ने दिया हर सवाल का जवाब

Advertisement / विज्ञापन
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Exclusive: अर्थव्यवस्था, एमएसपी, राहुल गांधी, ममता बनर्जी, सीतारमण ने दिया हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को बजट 2021 पेश किया। बजट को लेकर वित्त मंत्री ने इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा से खास बातचीत की। वित्त मंत्री ने कहा कि बजट में इंफ्रास्टेक्चर और हेल्थ पर जोर दिया गया है। इस बजट से अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। उन्होनें कहा कि ये कोरोना के बाद का बजट है। बहुत सारे वर्गों को कोरोना के समय में बहुत दिक्कत उठानी पड़ी। ऐसे में सभी लोगों का ध्यान रखते हुए इस बजट को पेश किया गया है। वित्त मंत्री ने बजट को लेकर कई मुद्दों पर चर्चा की।

MSP पर वित्त मंत्री

किसानों की आय दोगुनी करने के लिए पिछले कई सालों से बजट में कई घोषणाएं होती आ रही है। यह वह सरकार है जो एग्रीकल्चर को बढ़ावा देती आ रही है। किसान से पहले से ज्यादा खरीदारी हो रही है। वित्त मंत्री ने एमएसपी पर पिछली सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इस सरकार पर सवाल उठाने वाले वह लोग है जिनकी सरकार के समय एमएसपी पर ध्यान ही नही दिया गया था। 2014 से मोदी सरकार आने के बाद किसान से खरीदारी बहुत ज्यादा हो रही है।

वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण के दौरान जानकारी देते हुए बताया था कि पहले की सरकार द्वारा किसानों 33000 करोड़ का गेहूं किसान से खरीदा गया लेकिन अब सरकार ने 70 हजार करोड़ का गेहू खरीदा और 1 लाख 70 हजार करोड़ रुपए की धान खरीदी। वित्त मंत्री ने कहा कि अगर किसानों को सरकार की मंशा और एमएसपी पर फिर भी कोई शंका है तो सरकार (कृषि मंत्री नरेद्र सिंह तोमर) उनसे बात करने के लिए तैयार है। हम फिर किसान भाईयों को बातचीत के लिए आमंत्रित करते है। किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष की भूमिका की आलोचना करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि विपक्ष द्वारा की गई आलोचना को कोई सुनना नही चाहता, चुनावों में उनकी हार हो रही है। ऐसे में अब वह किसानों का सहारा लेकर मोदी सरकार के खिलाफ यह काम कर रहे है। वहां राजनीतिक रोटियां सेकी जा रही है।

राहुल गांधी पर वित्त मंत्री

बजट पर राहुल गांधी के बयान पर वित्त मंत्री ने कहा कि राहुल गांधी हर 15 दिन में आलोचना करते रहते है। और हम उनके आरोपों को फेक्ट के आधार आधार पर रिजेक्ट कर देते है। उनको पता नही कौन सलाह देता है वह जवाब दिए जाने के बाद भी वही गाना गाते रहते है। आपको बता दें कि राहुल गांधी ने बजट को लेकर आलोचना करते हुए कहा था ‘सरकार लोगों के हाथों में पैसे देने के बारे में भूल गई। मोदी सरकार की योजना भारत की संपत्तियों को अपने पूंजीपति मित्रों को सौंपने की है।’

ममता बनर्जी पर वित्त मंत्री

पश्चिम बंगाल के लिए बजट में कई अहम घोषणाएं करने पर विपक्ष की आलोचना को लेकर वित्त मंत्री ने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने को लेकर पूरे देश में सरकार पैसा दे रही है। अब ऐसे में किसी राज्य में चुनाव है तो चूंकि पूरे देश में पैसा इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए दिया जा रहा है तो उस राज्य में पैसा देने पर हंगामा करना गलत है। ममता बनर्जी के बजट को बेकार बताने पर वित्त मंत्री ने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री के किए हर काम की आलोचना करती है। वह बंगाल में केंद्र की प्रधानमंत्री सम्मान निधि के फायदे नही दे रही है। उन्होने कहा कि ममता जी यह सोचती है कि हमारे राज्य के लोगों के हाथ में केंद्र सरकार की योजना का पैसा जाएगा तो लोगों का मोदी के लिए सम्मान बढ़ेगा। लेकिन ऐसी सोच रखना गलते है। जनता के हाथ में सीधे पैसे देने से अर्थव्यवस्था होगी मजबूत?अमेरिका, इंग्लैड सरकार ने लोगों के हाथ में सीधा पैसा दिया गया जिसे लोगों ने खर्च किया और अर्थव्यवस्था मजबूत हुई।

इसे लेकर विपक्ष सरकार से लोगों को हाथ में पैसा देने की बात कह रहा है।

Advertisement / विज्ञापन

इसपर वित्त मंत्री ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ की कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान घोषणा की गई। इसमें बहुत गरीब, विक्लांग, बुजुर्गों को हमने पैसा भेजा। इससे हमें यह सीखने को मिला कि लोग जिनको पैसा मिला उन्होनें उसे उस समय खर्च नही किया। ऐसे में वह गलत नही है क्योंकि उस समय लोगों ने सोचा आने वाले समय में और गड़बड़ हो सकता है। ऐसे में जनता के हाथ में पैसे देना सरल रास्ता नही है।

 181 Total Views,  1 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

English English हिन्दी हिन्दी
Don`t copy text!
WhatsApp chat