Friday, 31 March, 2023

रक्षक का हुआ भक्षण”कब, क्यों और कैसे हुआ टीआई गिरीश त्रिपाठी और उनकी टीम ने कुछ ही घंटों में कातिलों को धर दबोचा।  

बैरसिया खुलासा रामबाबू मालवीय


मंगलवार दिनांक 28 मार्च 2023 को फरियादी सचिन राजपूत पिता भूपेंद्र सिंह राजपूत 27 साल निवासी ग्राम नरेला बाज्याफ्त करीब सुबह 8:30 बजे थाना पहुंचकर बताया कि मेरे पिता भूपेंद्र सिंह राजपूत उम्र 54 साल होमगार्ड भोपाल में पदस्थ हैं उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव के बंगले पर ड्यूटी करते हैं। सामान्यतः रात्रि आठ 8:30 बजे तक घर आ जाते थे किंतु वह कल रात्रि घर नहीं पहुंचे हमने उनके कार्यालय पर फोन लगाकर पूछा तो उन्होंने कहा वे अपने समय पर ही यहां से घर के लिए निकल गए हैं। गुम इंसान क्रमांक 23/ 23 जांच में लिया गया। कुछ समय बाद मृतक के भतीजे द्वारा सूचना मिली की हमारे चाचा का शव वर्दी में खून से लथपथ टिकन खेड़ी नाले के पास श्मशान घाट के पीछे पड़ा हुआ है। सूचना मिलते ही पुलिस बल वहां पहुंचा और छानबीन की तो पुलिस की वर्दी खून से लथपथ और सिर में गहरी चोट , तथा शरीर में चोट पाई गई। इसको विवेचना में लेते हुए अपराध क्रमांक 222 / 2023 धारा 302,34 कायम कर शव सरकारी अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मामले को गंभीरता से देखते हुए। पुलिस महानिरीक्षक अभय सिंह, अधीक्षक किरण लता केरकेट्टा के निर्देशन पर और अनुविभागीय अधिकारी मंजू चौहान थाना प्रभारी गिरीश त्रिपाठी सहित टीम गठित करके आरोपियों की खोज करने में जुट गए। आपको बता दें कि कुछ ही घंटों में पुलिस की टीम ने बारीकी से पूछताछ एवं टेक्निकल साक्ष्यों के आधार पर अपराधियों का पता लगा लिया जिसमें हीरा कुशवाह पिता खेमचंद , राजू कुशवाहा पिता खेमचंद, से मृतक के परिजनों से पुराना विवाद चल रहा था। मृतक का खेत अपराधियों के खेत से लगा हुआ था और आए दिन आरोपियों के साथ गाली गलौज होती थी। अपराधी हीरा कुशवाहा आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है जो कि कुछ महीने के लिए जेल जमानत पर आया है । बारीकी से छानबीन करने पर हीरा कुशवाहा के खेत के सामने मिट्टी में खून और मृतक का जूता प्राप्त हुआ हीरा कुशवाहा से कड़ी पूछताछ की गई तो उसने बताया कि हम रात्रि लगभग 8:30 9:00 बजे मृतक भूपेंद्र सिंह कच्चे मुरम वाले रास्ते पर अकेला आता दिखाई दिया हीरा कुशवाह राजू कुशवाहा सोनू कुशवाह जगदीश कुशवाह हम चारों वहीं खड़े हुए थे अकेला पाकर हीरा कुशवाहा ने मृतक के सिर पर ईंट से बार किया और वह जमीन पर गिर गया तभी हीरा और उसके साथियों ने डंडे तथा लात , घुसों से भूपेंद्र सिंह पर हमला किए जब हीरा कुशवाहा और उसके साथियों को यह अनुभव हुआ कि गहरी चोटों के कारण भूपेंद्र सिंह की मृत्यु हो गई है तब चारों ने उसे घटनास्थल से घसीट कर दूर नाले पर फेंक दिया। थाना प्रभारी और उनकी टीम ने सभी आरोपियों को ढूंढ निकाला और अपराधियों को कोर्ट में पेश किया गया कोर्ट ने चारों आरोपियों को जेल भेज दिया गया । आरोपी हीरा कुशवाहा पर पूर्व से ही कई धाराएं लगी हुई हैं और अब धारा 302,34 के तहत हीरा और उसके साथियों पर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया गया।

 

 1,003 Total Views

WhatsApp
Facebook
Twitter
LinkedIn
Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UVESH REPORTAR RAISEN//अखिल भारतीय विधार्थी परिषद इकाई-सिलवानी द्वारा मनाई गई छ्त्रपति शिवाजी महाराज की जयंती।

//उवेश रिपोर्टर// अखिल भारतीय विधार्थी परिषद इकाई-सिलवानी द्वारा मनाई गई छ्त्रपति शिवाजी

 7,408 Total Views

Search