Monday, 17 July, 2023

बैरसिया MP खुलासा// शासन-प्रशासन की अनदेखी से हो रहा पीड़ित परिवार के साथ अन्याय

बैरसिया खुलासा रामबाबू मालवीय


  • प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय में चक्कर काटते काटते गुहार लगाता पीड़ित परिवार आख़िर कब होगा न्याय।

बैरसिया के ग्राम कड़ैया खो का निवासी ग्राम रीछई प्राथमिक विद्यालय का शासकीय शिक्षक रमेश व उम्र लगभग 55 वर्ष अपने ही गांव की एक लगभग 35 वर्षीय महिला को गैर कानूनी तरीके से अपने घर में रख रहा है। आपको बता दें कि यह महिला वर्षा जाटव लगभग 35 साल जो कि 38 वर्षिय गब्बर सिंह जाटव की धर्मपत्नी है। इसके तीन बच्चे भी है। अपने पिता गब्बर सिंह के साथ ही रहते हैं। गब्बर ने बताया कि मास्टर रमेश जाटव की धर्मपत्नी का पिछले दो-तीन वर्ष पहले स्वर्गवास हो गया था। तब से ही मास्टर की बुरी नजर मेरी पर थी जिसके चलते हमारा कई वार झगड़ा भी हुआ और मैंने क्षेत्रीय थाना बैरसिया में इसकी शिकायत भी की किंतु कोई सुनवाई नहीं हुई। फिर दोबारा हमारी कहासुनी हुई तो रमेश जाटव और उसके भाई ने मुझे बेरहमी से मारा पीटा, मेरे सिर में भी गंभीर चोट आने से में बहुत दिनों तक अस्वास्थ रहा जिससे मुझे और मेरे 16 साल की बच्ची एक 13 साल का बच्चा और एक 10 साल का बच्चा तीनों बच्चों को बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ा और अब तो मास्टर रमेश ने पिछले महीने मेरी 16 बच्ची को उठाकर ले जाने की धमकी भी दी गई थी। कहा था कि ज्यादा कानून गिरी दिखाई तो जैसे तेरी पत्नी को ले गया हूँ। वैसे ही तेरी बेटी को भी उठा ले जाऊंगा और तू मेरा कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा नाही तेरा कानून मेरा कुछ बिगाड़ पाएगा मैं सरकारी शिक्षक हूं। बहुत पैसे कमाता पुलिस को भी खरीद लूंगा। तेरा और तेरे तीनों बच्चों को यहां नहीं रहने दूंगा ज्यादा बवाल मचाया तो जान से मारवा दूंगा। अपने 16 साल की बच्ची की इज्जत और जिंदगी की सलामती चाहता है तो हम दोनों के रास्ते से हट जा वरना अंजाम अच्छा नहीं होगा। तब से ही में अपने तीनों बच्चों के साथ गांव छोड़कर बैरसिया में रह रहे है। मास्टर रमेश जाटव और उसके भाई जब चाहे तब मुझे और मेरे बच्चों को धमकाते रहते हैं मैने शिक्षा विभाग में भी उसकी शिकायत की किंतु मुझे और मेरे परिवार को अभी तक न्याय नहीं मिला है इसके चलते में पिछले महीने थाने में अपने तीनों बच्चों के साथ मरने आया था। लेकिन पुलिस बालों ने मुझे समझा बुझा कर अपने घर भेज दिया था।अगर मुझे न्याय नहीं मिला तो में अपने तीनों बच्चों सहित अपनी जान देकर ईश्वर से न्याय मागने ऊपर जाऊंगा और इसके जिम्मेदार मास्टर रमेश उसका परिवार और पुलिस एवं शासन प्रशासन रहेगा।

 2,491 Total Views

WhatsApp
Facebook
Twitter
LinkedIn
Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search